Bhoutik vigyan classe 12

कूलाम का नियम ,कुलाम नियम क्या है, kulam ka niyam in hindi

कूलाम का नियम ,कुलाम नियम क्या है Coulomb’s of law in hindi :



कूलाम का नियम, कूलाम का नियम क्या है ,कूलाम का नियम इन हिंदी, कूलाम के नियम का सलूशन ,कूलाम का सिद्धांत इन हिंदी

कूलाम का नियम ,कुलाम नियम क्या है Coulomb’s of law in hindi सन 1785 मैं एक बैज्ञानिक जो फ्रांसीसी के रहने वाले थे तो इन वैज्ञानिक ने btaya  कि किन्ही दो विद्युत आवेशों पर लगने वाला वह आकर्षण या प्रतिकर्षण बल  का संदर्भ दिया है हालांकि हम आपको बताएंगे

कि इसका परिभाषा आप किस तरह से बहुत ही अच्छे ढंग से याद कर पाएंगे मैं आपको नीचे बहुत ही अच्छे ढंग से कूलाम के नियम का परिभाषा दे दूंगा तो आप पर को स्क्रोल डाउन करके पढ़ते रहिए कोला ने अपने यहां इंडियन एक्शन तुला के प्रयोगों द्वारा किए गए आदेशों के परिणाम के आधार पर किया था बुलाने किन्ही दो बिंदुओं के बीच लगने वाला वह बल के परिणाम ज्ञात करने के लिए आइटम तुला प्रयोग की

सहायता से विभिन्न प्रकार के प्रयोगों के बाद उन्होंने यह नियम प्रतिपादित किया कूलाम के नियम का बीच की दूरी के वर्गों का व्युत्क्रम पाती होता है फुला ने यह भी बताया कि किन्ही दो बिना देशों के बीच में जो भी आकर्षण या प्रतिकर्षण बल लगता है वह उन आदेशों के परिणामों के गुणनफल के समानुपाती होता है तथा दोनों आवेशों के मध्य लगने वाले वर्ग के विक्रम पति होता है आदेशों का या कार्यबल दोनों आवेशों को मिलाने वाली रेखा के कार्यकारी होता है कूलाम के नियम

के अनुसार पर लगने वाला बल माध्यम की प्रकृति पर निर्भर करता है अब हम आपको बताते हैं कूलाम के नियम का परिभाषा बहुत ही अच्छी तरह से जिससे अच्छी तरह से याद हो जाएगा

कूलाम का नियम ,कूलाम का नियम क्या है ,कूलाम का परिभाषा:  

किन्ही दो विद्युत आवेशो पर लगने वाला वह आकर्षण तथा प्रतिकर्षण बल जो दोनों आवेशों के मान का   गुणनफल के समानुपाती होता है तथा बीच की दूरी के वर्गों का व्युत्क्रम पाती होता है



कूलाम का नियम के डेरिवेशन:

अब हम लोग एक डेरी वेशन के जरिए इस को सिद्ध करेंगे इसका सूत्र के किस तरह से निकाला जाता है तथा इसका सूत्र क्या होता है

मानव दो विपरीत आवेश हैं q1 q2 उसके बाद में उन दोनों के बीच की दूरी आर है तो हम एफ बराबर ज्ञात करेंगे क्यों उनसे q2 में ले जाने में कितना बल लगता है तथा वही इसका सूत्र भी हो जाएगा

माना यहां पर दोआवेश हैं q1 और q2 के बीच की दूरी r है अब हम आपको ऊपर दिए गए परिभाषा के अनुसार इस को सॉल्व करेंगे और हमें यहां पर ज्ञात करना है  f नियतांक =

Q1———–————–r———————————q2

परिभाषा के अनुसार- आकर्षण तथा प्रतिकर्षण बल जो दोनों आवेशों के मान का   गुणनफल के समानुपाती होता है

F ∝ = q1×q2 and 

बीच की दूरी के वर्गों का व्युत्क्रम पाती होता है

F ∝ 1/r2

बीच की दूरी के वर्गों का व्युत्क्रम पाती होता





So

∝ नियतांक का मान= 1/4πε0  रखने पर

F= 1/4πε0.q1×q2.1/r2

 जो कि इसको गुणा भाग करने पर यह सूत्र प्राप्त होता है

नियतांक के बराबर
 जबकि नियतांक के बराबर होता है
नियतांक के बराबर
जब के ऊपर दिए गए के के मान का मान होता है



k = K = 9 x 10

यहाँ 
निर्वात की विद्युतशीलता ε0 (एप्साइलन जीरो  है।




निर्वात (वायु) में आवेशों के मध्य लगने वाला बल Fहै तो निम्न प्रकार से व्यक्त करते है।


यदि आप उनके बारे में और  कुछ पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं कि आपको अभी भी कोई डाउट हो तो हम आपको रिप्लाई 24 घंटा के अंदर दे देंगे

हम आपको इसका पूरा कोर्स के बारे में बताइए कि आप किस तरह सब होते अपने ज्ञान का कूलाम के नियम का पूरा पोस्ट तथा डेरिवेशन हम आपको बताएंगे बस आप हमारे साइट को विजिट करते रहिए मोदी योजना डॉट एक्स वाई जेड पर ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए बहुत ही सिंपल तरीका और बहुत ही हार्ड तरीका हम आपको बताएंगे एक्सेस लोशन


 नीचे मैंने इस आर्टिकल में बताया है कि आप किस तरह से वैद्युत फ्लक्स की पूरी जानकारी ले सकते हैं वैद्युत फ्लक्स किसे कहते हैं तथा वैधुत फ्लक्स की परिभाषा या फिर विदेश की मात्रा आपको वैद्युत फ्लक्स के बारे में पूर्ण रूप से जानकारी होगी यदि आप वैद्युत फ्लक्स क्षेत्र से पढ़ना चाहते हैं तो आप इस पर क्लिक कीजिए और पढ़िए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button